मनीषबलवान सिंह जांगड़ा, हिसार
राजस्थान में कथित विधायकों की खरीद फ़रोख़्त के मामले में जांच कर रही राजस्थान पुलिस की एसओजी के सचिन पायलट समेत कई मंत्रियों को नोटिस भेजे जाने के बाद राजस्थान सरकार में घमासान मचा हुआ है। उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट मुख्यमंत्री से नाराज़ होकर अपने समर्थम विधायकों के साथ दिल्ली चल गए हैं और सोमवार को मुख्यमंत्री द्वारा बुलाई गई विधायक दल की मीटिंग में शामिल न होने का फ़ैसला किया है।

सचिन पायलट ने बीजेपी में शामिल होने की अटकलों को किया खारिज़।

ऐसे में सचिन पायलट की 30 विधायकों के साथ बीजेपी में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही थी लेकिन आज सुबह मीडिया में सचिन पायलट ने इन अटकलों को विराम दिया है। उन्होंने मीडिया को बताया की उनका बीजेपी में शामिल होने का कोई इरादा नही है।

विधायक दल की मीटिंग को लेकर कांग्रेस ने जारी किया व्हिप।

राजस्थान कांग्रेस ने विधायक दल की मीटिंग के लिए व्हिप जारी किया है। गैरहाज़िर रहने पर विधायकों पर करवाई होगी। गौरतलब है कि राजस्थान कांग्रेस में चल रहे घमासान को देखते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को विधायक दल की मीटिंग बुलाई है जिसमे सभी विधायकों के लिए व्हिप जारी किया है। ऐसे में अगर सचिन पायलट दिल्ली में हैं और उन्होंने मीटिंग में शामिल न होने का फैसला किया जा। पार्टी सूत्रों की माने तो मुख्यमंत्री के समर्थन में 109 विधायक हैं और सचिन पायलट के समर्थन में 30 विधायक हैं।
और नया पुराने