आयांश जैन ने दर्ज कराया इंडिया बुक ऑफ वर्ल्ड में अपना नाम

अजय सागर अत्री,रेवाड़ी।
'होनहार वीरवान के होत चीकने हाथ'! उक्त कहावत को शत प्रतिशत सिद्ध किया है यहां के जैनपुरी निवासी उमंग जैन व पूजा जैन के साढ़े 4 वर्षीय पुत्र आयांश जैन ने। आयांश ने ऑनलाइन परीक्षा में सराहनीय प्रदर्शन करते हुए न केवल इंडिया बुक ऑफ रेकॉर्ड्स में अपना नाम दर्ज कराया, अपितु उसे संस्था की और से स्वर्ण पदक व प्रशस्तिपत्र देकर भी सम्मानित किया गया है।
किड ज़ी स्कूल की यूकेजी कक्षा के छात्र आयांश से ऑन लाइन परीक्षा में विभिन्न विषयों से सम्बन्धित 40 प्रश्न पूछे गए थे, जिनमें से आयांश ने अधिकांश प्रश्नों के सही जवाब दिए। आयांश की इस उपलब्धि से उसके दादा प्रदीप जैन व दादी सुनीता जैन तथा उसके शिक्षकों में जबरदस्त खुशी की लहर है। इस सराहनीय उपलब्धि के लिए किड्जी के निदेशक राजुल बाउंटरा व रीना बाउंटरा सहित शहर के अनेकों गणमान्य लोगों ने आयांश को हार्दिक बधाई दी है।
और नया पुराने