अपराध जांच शाखा नूंह को मिली नशा विरोेधी बड़ी कामयाबी

दो नशा तस्करों को गिरफ्तार कर गाड़ी आईसर कैन्टर कब्जे लिया

शिवचरण ( शिवा )
नूंह/गुरूग्राम। 
नशा तस्करो के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान के तहत अपराध जांच शाखा नूंह पुलिस की टीम ने दो नशा तस्करों को गिरफ्तार करके उनके कब्जा से 673 किलो 200 ग्राम गांजा पत्ती को गाड़ी आईसर कैन्टर सहित बरामद करने में सफलता हासिल की है।
पुलिस प्रवक्ता नूंह से प्राप्त जानकारी अनुसार शनिवार को गाड़ी आईसर कैन्ट्ररा में मादक पदार्थ गांजा पत्ती भरकर ले जा रहे दो आरोपियों को अपराध जांच शाखा नूंह की टीम ने अनाज मंडी नूंह से 673 किलो 200 ग्राम मादक पदार्थ गांजा पत्ती सहित काबू किया है । पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ थाना शहर नूंह में मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है ।
प्रभारी अपराध जांच शाखा नूंह निरीक्षक अमित कुमार ने बतलाया कि शनिवार को  सहायक उप-निरीक्षक उमर मोहम्मद के नेतृत्व में उनकी टीम अपराधों की रोकथाम के लिये अडबर चौक नूंह पर मौजूद थी । उसी समय गुप्त सूचना प्राप्त हुई कि सब्बीर पुत्र अतलम निवासी चिलावली व यूनूस पुत्र जीतू गांव बावला मिलकर नशीला पदार्थ गांजा बेचने व तस्करी करने का अवैध धंधा करते है । आज भी गाड़ी आईसर में कहीं से नशीला पदार्थ गांजा पत्ती भरकर लाये है और गांजा पत्ती को सप्लाई करने के लिये गांजा से भरे कैन्ट्ररा को नूंह अनाज मंडी में खड़ा किया हुआ है । जिस सूचना पर टीम के द्वारा उपरोक्त स्थान पर दबिश देकर कैन्ट्ररा के अन्दर चालक व परिचालक साइड में बैठे दोनों व्यक्तियों को गाड़ी कैन्ट्ररा  सहित काबू किया । काबू करके नाम पता पूछने पर चालक सीट पर बैठे व्यक्ति ने अपना नाम सब्बीर पुत्र अतलम निवासी चिलावली व परिचालक सीट पर बैठे व्यक्ति ने अपना नाम यूनूस पुत्र जीतू निवासी बावला बतलाया।
22 कट्टों में 673 किलो मादक पदार्थ
गाड़ी आईसर की नियमानुसार तलाशी लेने पर उसमें रखे 22 कट्टों में कुल 673 किलो 200 ग्राम मादक पदार्थ गांजा पत्ती बरामद हुआ । पुलिस ने गांजा पत्ती के 22 कट्टों को कब्जा पुलिस में लेकर थाना शहर नूंह में उपरोक्त दोनों आरोपियों के खिलाफ सम्बधित धाराओं के तहत मामला दर्ज कर आरोपी सब्बीर व यूनूस उपरोक्त को मुकदमा में नियमानुसार गिरफ्तार किया । उपरोक्त आरोपियों को दिनांक 10.10.2021 को माननीय अदालत में पेश करके पूछताछ के लिये रिंमाड पर लिया जायेगा । रिंमाड अवधि के दौरान आरोपियों से और वारदातों के खुलासा होने की सम्भावना है । रिंमाड अवधि के दौरान नशा तस्करी के इस नेटवर्क से जुड़े अन्य लोगों के बारे में नाम पता मालूम करके उनके खिलाफ भी कार्यवाही की जायेगी ।

Previous Post Next Post