समर्थक ले रहे आका का नाम पर प्रचार भाजपा का हो रहा

अपने अपने कार्यकाल में इन योजनाओं का श्रेय लेने की होड़

फतह सिंह उजाला
पटौदी । 
 मंगलवार को हरियाणा राज्य में आरंभ होने वाली विभिन्न महत्वपूर्ण सड़क परियोजनाओं का रिमोट बेशक देश की राजधानी दिल्ली में होगा । लेकिन सुबे में खासतौर से दक्षिणी हरियाणा की बात की जाए तो इन विभिन्न सड़क परियोजनाओं का श्रेय लेने की स्थानीय नेताओं में एक प्रकार से और आरंभ हो चुकी है और आरंभ ही नहीं हो चुकी है बलिक दावे पर दावे ठोक कर अपने अपने कार्यकाल के दौरान योजनाओं को मंजूर कराने का श्रेय भी लेने में पीछे नहीं रह रहे हैं । लेकिन इस पूरे मामले का दूसरा पहलू यह है कि बड़े आका-नेताओं के समर्थकों के द्वारा अपने आका को श्रेय देने और श्रेय लेने की होड़ में केवल और केवल जो प्रचार हो रहा है वह भारतीय जनता पार्टी का ही प्रचार हो रहा है ।
ऐसे में यह बात कहने में कोई गुरेज नहीं की नेता-आका के समर्थकों के बीच श्रेय लेने की होड़ में पूरी तरह से भारतीय जनता पार्टी का प्रचार और बल्ले बल्ले हो रही है । खासतौर से जो श्रेय लेने का द्वंद आस्था है, वह पटौदी इलाके में साथ-साथ दक्षिणी हरियाणा के लिए भी देखी जा रही है । यहां सभी को मालूम है कि निवर्तमान विधायक विमला चैधरी केंद्र में मंत्री राव इंद्रजीत सिंह की कट्टर समर्थक है । वही मौजूदा विधायक सत्यप्रकाश जरावता को मंत्री रहे राव नरबीर सिंह का सबसे अधिक करीबी माना जाता है।  विधानसभा चुनाव के बाद बीते कुछ दिनों से राव इंद्रजीत समर्थक रही पूर्व विधायक विमला चैधरी कुछ सक्रिय दिखाई दी है और जब से पटौदी बाईपास सहित अन्य सड़क परियोजनाओं को लेकर इनके शिलान्यास की बात आई है । तो वह यह कहते कतई भी गुरेज नहीं कर रही की पटौदी हल्के सहित और भी कई इलाकों में सड़क परियोजनाएं खास तौर से पटौदी का बाईपास की परियोजना उनके ही कार्यकाल की देन है, जो आज साकार हो रही है ।

वही बात करें सीएम के लाडले नेता और मंत्री रहे पूर्व पीडब्ल्यूडी मंत्री राव नरबीर सिंह के बेहद नजदीक और विश्वसनीय माने जाने वाले मौजूदा विधायक सत्य प्रकाश जरावता की , तो वह भी पटौदी के बाईपास सहित केएमपी के अलावा और भी विभिन्न सड़क परियोजनाओं को लेकर समय-समय पर होने वाले कार्य का खुलासा करते रहे हैं ।  उनका यह भी साफ साफ कहना है कि उनका एक ही मकसद रहा है कि पहले के जनप्रतिनिधियों के द्वारा जो परियोजनाएं अथवा परियोजनाओं से संबंधित प्रस्ताव सरकार के पास भेजे गए और ऐसी परियोजनाएं पाइपलाइन हैं उन्हें मूर्त रूप दिलाना ही उनका मुख्य उद्देश्य है ।   विधायक जरावता के शब्दों में और इस काम को मैं बखूबी निभा भी रहा हूं । गुरुग्राम-पटौदी-रेवाड़ी राजमार्ग के संदर्भ में विधायक जरावता को यह कहने में कतई भी गुरेज नहीं की अपने कार्यकाल के दौरान पूर्व पीडब्ल्यूडी मंत्री नरबीर सिंह ने अनेकों बार केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात करके सड़कों को बनाने के लिए अपनी योजनाओं से अवगत कराया । इनमें सोहना का एलिवेटेड रोड भी शामिल है जो कि संभवत दुनिया का सबसे छोटा एक्सप्रेस हाईवे हो सकता है । इसी प्रकार से जरावता गुरुग्राम-पटौदी रेवाड़ी नेशनल हाईवे सहित बाईपास का श्रेय भी राव नरबीर सिंह को देने से कतई नहीं हिचक दिखाते हैं।

विधायक जरावता के शब्दों में योजनाओं को कागजों में लिखना अलग बात है और उनको सही मायने में जनता की सुविधा के लिए धरातल पर लाना अलग बात है और मैं बखूबी इस काम को राज्य सरकार और राज्य सरकार के माध्यम से केंद्र सरकार तक पहुंचा कर पूरा करवाने का ईमानदारी से प्रयास कर रहा और भविष्य में भी यह प्रयास जारी रहेंगे । लेकिन जो बात सबसे महत्वपूर्ण है वह यह है बड़े नेता और आकाओं के समर्थकों के द्वारा अपने-अपने हिसाब से राजनीतिक निष्ठा दिखाते हुए जो श्रेय अपने ही राजनीतिक आकाओं को दिया जा रहा है , उसमें सबसे अधिक प्रचार बड़े नेताओं सहित भारतीय जनता पार्टी का ही अधिक हो रहा है । इस बात को आम जनता भी भली-भांति जानती और समझती है ।

और नया पुराने