मनीषबलवान सिंह जांगड़ा, हिसार
हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला को उनके चाचा व इंडियन नेशनल लोकदल(आईएनअलडी) के एकमात्र विधायक और सर्वेसर्वा अभय चौटाला ने चुनौती दी है। उन्होंने कहा की दुष्यंत चौटाला उचाना से इस्तीफ़ा देकर ऐलनाबाद से चुनाव लड़कर दिखाएं, अगर हिम्मत है तो चैलेंज स्वीकार करें। ये बयान उन्होंने हिसार में इनेलो के कार्यालय में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए दिया। अभय चौटाला ने कहा कि अजय चौटाला को जेल भेज देने का बदला लेने के लिए उन्होंने दुष्यंत चौटाला को दिन-रात एक करके हिसार लोकसभा सीट से सांसद बनाया। लेकिन आज वही लोग अभय चौटाला को विधायक बनने का चैलेंज देतें है। 

उन्होंने कहा कि आज इस मंच के माध्यम से उन लोगों को चैलेंज देतें हैं। दुष्यंत चौटाला उचाना विधानसभा सीट से इस्तीफ़ा देकर ऐलनाबाद से चुनाव लड़कर दिखाएं, अगर हिम्मत है तो चैलेंज स्वीकार करें। इसके साथ ही।उन्होंने सरकार की नीतियों पर निशाना साधते हुए कहा की प्रदेश में बीजेपी और जेजेपी ने कोरोना संकट में विकास करने की बजाय हर वर्ग के लोगों को दुःखी व परेशान किया है।

भाजपा और कांग्रेस एक ही टीम है।

अभय चौटाला ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि आने वाला समय इंडियन नेशनल लोकदल का होगा। प्रदेश की जनता समझ चुकी है कि भाजपा, जजपा और कांग्रेस एक ही टीम में हैं। जजपा और कांग्रेस दोनों ही भाजपा की गोद में बैठकर काम कर रही है। तीनों ही पार्टियों ने प्रदेश की जनता को ठगने का काम किया है। दीपेंद्र हुड्डा व सुभाष चंद्रा को राज्यसभा सांसद बनने को खेल को जनता देख चुकी है कि भाजपा और कांग्रेस एक ही टीम है।

कार्यकर्ता फिर से पार्टी को मजबूत बनाएं।

अभय चौटाला ने कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि सभी  दिन में दो घण्टे निकालकर पुराने साथियों को इनेलो में वापस लाएं। इसके साथ ही सभी कार्यकर्ता सोनीपत में बड़ौदा उपचुनाव में जी जान लगाकर पार्टी को मजबूत बनाएं। अभय चौटाला ने किसी नाम का नाम लिए बिना कहा कि जिन लोगों ने चौधरी देवीलाल के नाम को कलंकित करने का काम किया उनको इस बड़ौदा उपचुनाव के माध्यम से सबक सिखाना है।
और नया पुराने