पटौदी ब्लॉक में अभी तक 468 पॉजिटिव केस दर्ज हो चुके

फर्रुखनगर और सोहना मे कुल  अभी तक 476 केस दर्ज

राहुल यादव
गुरुग्राम / पटौदी।
 कोरोना कोविड-19 जिला गुरुग्राम में अपने संक्रमण की चपेट में लोगों को लगातार लेता आ रहा है । सिटी से बाहर देहात कहलाने वाले इलाके की बात की जाए तो फर्रुखनगर और सोहना ब्लॉक के कुल केस को मिलाकर अकेले पटौदी ब्लॉक में ही उसने केस अभी तक दर्ज किए जा चुके हैं। जिला में और जिला के साथ-साथ देहात कहलाने वाले इलाके में जब से कोरोना ने अपनी जड़ें जमाई हैं, तब से लेकर अब तक पटौदी ब्लॉक में कोरोना पूरी तरह से बेलगाम ही दिखाई दे रहा है ।

शनिवार को पटौदी ब्लॉक में एक बार फिर से 10 कोरोना कोंविड 19 के पॉजिटिव केस दर्ज किए गए हैं। वही साथ लगते फर्रुखनगर ब्लॉक में केवल मात्र एक ही पॉजिटिव केस और सोहना ब्लॉक में सात केस दर्ज किए गए हैं । पटौदी पालिका निवासी कथित रूप से कोरोना संक्रमण की चपेट में आने के कारण अपनी जान भी हो चुका है । गुरुग्राम सिटी और सिटी से बाहर देहात कहलाने वाले इलाके की बात कर की जाए तो फर्रुखनगर और सोहना में फिर भी बीच-बीच में ऐसे मौके आए हैं जब कोरोना कॉविड 19 के केस दर्ज नहीं किए जा सके । लेकिन बीते करीब 1 माह से अधिक समय से पटौदी ब्लॉक में तो कोरोना की चेन टूटने का नाम ही नहीं ले रही है ।

अब बात करें जिला गुरुग्राम की, तो बीते 24 घंटे के दौरान कोरोना कॉविड 19 दो लोगों की और जान ले चुका है । इस प्रकार मृतकों का आंकड़ा 114 तक पहुंच गया है । शनिवार को जिला गुरुग्राम में राहत की बात यह रही है कि बीते 24 घंटे के दौरान स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन के मुताबिक कोरोना कॉविड 19 संक्रमित 150 व्यक्ति पूरी तरह से स्वस्थ होने वालों में शामिल हैं । वहीं बीते 24 घंटे के दौरान 111 नए पॉजिटिव केस दर्ज किए गए हैं । जिला गुरुग्राम में स्वास्थ्य विभाग के द्वारा जारी बुलेटिन में बताया गया है कि अभी भी 1012 कोरोना पाॅजिटिव केस हैं । जहां तक कुल पॉजिटिव केस दर्ज होने की बात है तो जिला गुरुग्राम में अभी तक 7594 पॉजिटिव केस दर्ज किए जा चुके हैं अथवा इनकी पहचान की जा चुकी है । इनमें से 6468 व्यक्ति स्वस्थ होकर डिस्चार्ज किए जा चुके हैं । इधर जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग के द्वारा विभिन्न कालोनियों ,बस्तियों ,गलियों को पूरी तरह से नाकाबंदी करके सील कर किया जा रहा है। जहां जहां भी कोरोना कोविड-19 के पॉजिटिव केस अधिक सामने आ रहे हैं । सवाल फिर वही है की आखिर कोरोना कोविड-19 की मजबूत बनी चेन कब और किस प्रकार से टूट सकेगी । जिससे कि स्वास्थ्य विभाग प्रशासन के साथ-साथ आम आदमी भी राहत महसूस कर सकें ।

और नया पुराने