मनीषबलवान सिंह जांगड़ा, हिसार
गुरु जम्भेश्वर यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार ने यूजीसी(यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन) की गाइडलाइंस को लेकर टिप्पणी दी है कि हम यूजीसी की बजाय हरियाणा सरकार के फ़ैसले को तरजीह देंगे।
गुरु जम्भेश्वर यूनिवर्सिटी के अंतर्गत जितने भी महाविद्यालय आते हैं उनको लेकर कुलपति प्रो. टंकेश्वर कुमार ने कहा है कि फ़िलहाल हम छात्रों की परीक्षा नही करवाएंगे। उन्होंने आगे कहा कि यूजीसी की गाइडलाइंस जरूर आई है लेकिन इससे पहले ही विद्यार्थियों, अभिवावकों की मांग पर सरकार ने विद्यार्थियों की परीक्षा न लेने फैसला ले लिया है।

अगर सरकार फैसला बदलती है तो हो सकती है परीक्षा।

उन्होंने आगे कहा कि अगर सरकार अपना फैसला बदलती है तो परीक्षाएं हो सकती है और हम इसके लिए तैयार हैं। कुलपति ने जानकारी देते हुए कहा कि प्रथम, द्वितीय, व तृतीय वर्ष के छात्रों को प्रमोट कर दिया है व फाइनल ईयर के छात्रों को इंटरनल व पिछले सेमेस्टर के अंकों के आधार पर अंक लगाए जाने की प्रक्रिया चल रही है।

छात्रों में असमंजस की स्थिति बनी हुई थी।

गृह मंत्रालय द्वारा यूजीसी( यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन) को फाइनल ईयर के छात्रों के एग्जाम को लेकर गाइडलाइंस बनाने का आदेश जारी किया था जिसमे कोरोना महामारी को देखते हुए एग्जाम करवाने को लेकर नोटिस जारी हुआ था। इसके बाद से प्रदेशभर के छात्रों में असमंजस का माहौल था कि एक तरफ सरकार ने बिना एग्जाम के छात्रों को पास करने का निर्णय लिया है दूसरी तरफ यूजीसी विद्यार्थियों की परीक्षा करवाने की तैयारी कर रही है।
और नया पुराने