ज्योति जांगड़ा, हिसार 

विकास दुबे के मददगार विनय तिवारी हिरासत में। 

विकास दुबे का करीबी अमर दुबे मारा गया। 

फरीदाबाद में मिली विकास दुबे की लास्ट लोकेशन।

कानपुर शूटआउट के आरोपी विकास दुबे को पुलिस प्रशासन लगातार ढूंढ रही है। शूटआउट के पांचवें दिन भी आरोपी विकास दुबे फरार है। कानपुर शूटऑउट विकास दुबे के मददगार आरोपी विनय तिवारी को आज हिरासत में लिया गया हैं। कुछ दिन पहले विनय तिवारी को सस्पेंड कर दिया गया था। विनय तिवारी चौबेपुर थाने में एसओ के पद पर नियुक्त था। विनय तिवारी से आज एसटीएफ की टीम पूछताछ की है। पूछताछ के बाद से ही विनय तिवारी को हिरासत में ले लिया गया है। साथ ही तत्कालीन चौबेपुर चौकी इंचार्ज के के शर्मा से पूछताछ की जा रही है। जानकारी के मुताबिक उत्तर प्रदेश व बिहार पुलिस सभी कनेक्शन सूत्रों के कॉल डिटेल्स छान रही है। अभी भी पूरा चौबेपुर थाना शक के घेरे में है।

शक का कारण

शहीद सीओ देवेंद्र मिश्रा का कार्यत लेटर लगातार वायरल हो रहा है। इस लेटर देवेंद्र मिश्रा ने चौबेपुर के तत्कालीन एसओ और विकास दुबे की मिलीभगत की शिकायत की थी। शहीद देवेंद्र मिश्रा ने यह शिकायत पत्र एसएसपी अनंत देव को भेजा था। चौबे थाने के दो दरोगा और एक सिपाही को भी सस्पेंड कर दिया गया है सभी से पूछताछ जारी है।

विकास दुबे का करीबी अमर दुबे मारा गया

अमर दुबे विकास दुबे का दाहिना हाथ था। वह उसका बॉडीगार्ड भी था। हमीरपुर जिले में पुलिस के साथ मुठभेड़ में अमर दुबे मारा गया। अमर हमेशा ही असलहे  से लैस रहता था। अमर दुबे विकास का चचेरा भाई था। 29 जून 2020 को अमर दुबे की शादी हुई थी। अमर दुबे ने मंगलवार रात फरीदाबाद में विकास दुबे के लिए होटल बुक करवाने की कोशिश भी की थी। विकास दुबे पर प्रशासन ने दो लाख से बढ़ाकर पांच लाख इनाम राशि कर दी है। फरीदाबाद में न्यू इंद्रानगर कॉन्पलेक्स स्थित होटल में छापेमारी की गई थी। बुधवार को पुलिस को खबर मिली कि विकास दुबे फरीदाबाद के होटल में है. फरीदाबाद के होटल से विकास दुबे भाग निकला लेकिन सीसीटीवी फुटेज में उसकी रिकॉर्डिंग हो गई। 

फरीदाबाद में भी मुठभेड़ के दौरान विकास दुबे के तीन साथी गिरफ्तार किए गए हैं। इनमें प्रभात, अंकुर, श्रवण को गिरफ्तार किया गया है। तीनों ही कानपुर के रहने वाले हैं। साथ में दो सरकारी पिस्तौल, दो अन्य पिस्तौल व 40 जिंदा कारतूस बरामद किए गए हैं। 

और नया पुराने