ज्योति जांगड़ा, हिसार 

 कुछ दिनों पहले हिसार के रेड स्क्वेर मार्केट के पास बनी रोटी बैंक को प्रशासन ने तोड़ दिया था। यह रोटी बैंक मिराज सिनेमा के थोड़ा आगे ग्रीन बेल्ट में बनाया गया था। रोटी बैंक अवैध कब्जा कर बनाया गया था.जो हजारों गरीब और भूखे लोगों को खाना मुहैया करवाता था। प्रशासन के अवैध कब्जा हटाने के बाद भी रोटी बैंक ने रेहड़ी लगाकर अपनी सेवा चालू रखी है। रोटी बैंक के सभी कामगारों ने हिम्मत रख कर आज भी गरीबों को खाना खिला रहे हैं। पहले लोग बैठकर भोजन करते थे.परंतु अब लोग लाइनों में लगकर भोजन ले जाते हैं।
 एक रोटी बैंक के कामगार ने बताया कि "जगह तोड़ दी तो क्या हुआ हमारा हौसला अभी  बाकी है. हम हमेशा से ही सेवा करते हैं और करते रहेंगे। प्रशासन चाहे हमारी जगह तोड़ दे या फिर हमें ऐसे ही दुखी करते रहे परंतु हम सेवा करते रहेंगे। रोटी बैंक दिन में दो बार लंगर लगाते हैं. सुबह 10:30 से 2:00 बजे तक और शाम को 6:30 से 8:30 बजे तक चलता है। फिलहाल लंगर में कोई भी कमी नहीं आई है पहले की तरह ही खाना उपलब्ध करवा रहे हैं। यह फ्री की सेवा है और हम गरीब का पेट भरते हैं। 
और नया पुराने