खिलाड़ियों का अभ्यास शुरू, थर्मल स्कैनिंग के बाद एंट्री  

सभी खिलाड़ियों के फोन में आरोग्य सेतु आवश्यक,

स्टेडियम में केवल खिलाड़ी को ही प्रवेश की अनुमति

फतह सिंह उजाला
गुरुग्राम ।
  कोरोना संक्रमण के कारण खाली पड़े स्टेडियमों में एक बार फिर से बहार आनी शुरू हो गई है, खिलाड़ियों ने अपने कोच के मार्गदर्शन में पुनः अभ्यास शुरू कर दिया है। गुरुग्राम के सेक्टर 38 स्थित ताऊ देवी लाल स्टेडियम में खिलाड़ियों का प्रेक्टिस का दौर शुरू हो चुका है, वहीं प्रशासन भी कोरोना संक्रमण के चलते सभी ऐहतियात बरत रहा है। स्टेडियम में  खिलाड़ियों के प्रवेश करते समय थर्मल स्कैनर से जांच की जाती है और सभी के फोन में आरोग्य सेतु एप का संचालन सुनिश्चित किया जा रहा है। केवल खिलाड़ियों को ही प्रवेश दिया जा रहा है, अभिभावकों या दर्शकों के स्टेडियम के अंदर आने पर अभी प्रतिबंध है।  

स्टेडियम में खिलाड़ियों के अभ्यास के बारे में जानकारी देते हुए ताऊ देवी लाल स्टेडियम के मैनेजर सुखबीर सिंह ने बताया कि स्टेडियमों में खिलाड़ियों की प्रैक्टिस सरकार व जिला प्रशासन द्वारा दी गई गाइडलाइंस के मुताबिक ही करवाई जा रही है । अभ्यास के लिये खिलाड़ी दो शिफ्टों- प्रातः काल और सायं काल में आते हैं । अभी इस स्टेडियम में बैडमिंटन,  एथलेटिक्स , बॉक्सिंग, कुश्ती, वालीबॉल, बास्केटबॉल , तीरंदाजी, कबड्डी ,स्पेशल ओलंपिक आदि खेलों की प्रेक्टिस  हो रही है। कोरोना से सुरक्षा के मद्देनजर अभी स्विमिंग पूल बंद रखे गए हैं क्योंकि पानी में काफी लोग तैराकी करते हैं, इसलिए स्विमिंग पूल सरकार द्वारा आने वाले अगली गाइडलाइन तक बंद रहेंगे।

सुखबीर सिंह ने बताया कि प्रत्येक कोच द्वारा 15-15 खिलाड़ियों के समूह बनाए गए है। एक समय पर एक समूह को प्रेक्टिस करवाई जा रही है ,वहीं पहले समूह की प्रेक्टिस होने के बाद दूसरे समूह को प्रेक्टिस करवाई जाती है। उन्होंने बताया कि कोच द्वारा इस बात का विशेष ध्यान रखा जाता है कि सभी खिलाड़ी आपस में निर्धारित दूरी रखते हुए अभ्यास करें और अपने हाथो को अनावश्यक रूप से मुंह पर न लगाऐं।  उन्होंने बताया कि खिलाड़ियों व सभी प्रशिक्षकों की थर्मल स्कैनर से जांच और सैनिटाइजिंग करने के पश्चात ही उन्हें स्टेडियम में प्रवेश दिया जाता है। केवल रजिस्टर्ड खिलाड़ी ही आईडी कार्ड दिखाकर अभ्यास कर सकते हैं। बिना आईडी कार्ड के प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाती। उन्होंने बताया कि स्टेडियम का केवल एक ही प्रवेश द्वार खुला है, जो कि मेदांता अस्पताल वाली रोड़ की तरफ है। इसी गेट पर पूरी जांच के बाद ही खिलाड़ी को अंदर आने दिया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि खिलाड़ियों को हिदायत हैं कि वे सीधे अपने प्रेक्टिस ग्राउंड पर जाए, स्टेडियम में इधर उधर घूमने पर प्रतिबंध है।  प्रेक्टिस के बाद खिलाड़ी अपने हाथो को सैनिटाइज करते हुए फेस मास्क का उपयोग करेगा।  उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों  की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है और इसके लिए स्टेडियम में सभी आवश्यक प्रबंध हैं।

और नया पुराने