सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी योजना का शिलान्यास करेंगे

इसी योजना में सात किलोमीटर लंबा पटौदी का बाईपास भी बनेगा


फतह सिंह उजाला
पटौदी ।  क्षेत्र के लोगों की यात्रा सुगम और सुरक्षित बनाने के लिए केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्रालय जल्द ही गुरुग्राम-पटौदी -रेवाड़ी राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण का कार्य शुरू करेगा। 14 जुलाई को केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी इस योजना का शिलान्यास करेंगे। केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह यह जानकारी देते हुए बताया कि गुरुग्राम- पटौदी - रेवाड़ी राष्ट्रीय राजमार्ग एन 352 डब्लू की लंबाई करीब 46 किलोमीटर होगी । इस योजना पर 15 सौ करोड़ रुपए का खर्चा आएगा। राव ने बताया कि इस योजना के तहत पटौदी में 7 किलोमीटर का बाईपास भी बनाया जाएगा।

सब बाधाओं को दूर कर लिया गया

जानकारी देते हुए केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत ने बताया कि वे इस योजना को सिरे चढ़ाने को लेकर पिछले कई वर्षों से प्रयासरत थे। जमीन अधिग्रहण को लेकर काफी बाधाएं  पिछले दिनों से आ रही थी लेकिन अब उन सब बाधाओं को दूर कर लिया गया है।  तकनीकी रूप से भी समस्याएं सुलझा ली गई है। राव ने कहा कि गुरुग्राम पटौदी रेवाड़ी राष्ट्रीय राजमार्ग बनने के बाद यहां के लोगों को रेवाड़ी जाने के लिए सुगम मार्ग मिल सकेगा वही झज्जर वह रोहतक से भी जुड़ाव आसान हो सकेगा। राव ने कहा कि केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री  नितिन गडकरी का इस योजना को मंजूर करने पर क्षेत्र की जनता की ओर से आभार व्यक्त करते हैं।
 
1500 करोड़ रुपए की लागत आएगी     
 
केंद्रीय मंत्री ने जानकारी देते हुए बताया कि यह राष्ट्रीय राजमार्ग करीब 46 किलोमीटर लंबा होगा जिसमें दो फ्लाई ओवर, एक आर ओ बी,  तीन इंटरचेंज सहित अनेक सुविधाएं होंगी। इस राजमार्ग निर्माण पर करीब 1500 करोड़ रुपए की लागत आएगी जिसमें जमीन अधिग्रहण की राशि भी शामिल है। यह राष्ट्रीय राजमार्ग बनने के बाद यहां के लोगों को यातायात सुगम और सुरक्षित हो सकेगा। उन्होंने कहा कि पटौदी क्षेत्र की वर्षों पुरानी मांग पटौदी बाईपास के निर्माण का भी मार्ग इस योजना में प्रशस्त हो गया है। इस योजना के तहत करीब 7 किलोमीटर का लंबा बाईपास पटौदी के बाहर से निकाला जाएगा। पटौदी बाईपास बनने के बाद पटौदी में लगने वाले जाम से क्षेत्र के लोगों को छुटकारा मिल सकेगा और जाम की समस्या को समाप्त किया जा सकेगा। राव ने कहा कि इस योजना को सिरे चढ़ाने में प्रदेश सरकार ने भी अपनी भूमिका निभाई और योजना को सिरे चढ़ाया जा सका।


और नया पुराने