एजुकेशन वर्ल्ड गवर्नमेंट यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2020-21 में केयू को पाठ्यक्रम गुणवत्ता, शिक्षण, प्रशिक्षण एवं मूल्यांकन, शोध, कंसल्टेंसी, आधारभूत ढांचा, विद्यार्थी सहयोग, गवर्नेंस, लीडरशिप मैनेजमेंट और इनोवेशन मानकों के आधार पर परखा गया।

कुरुक्षेत्र। 
एजुकेशन वर्ल्ड गवर्नमेंट यूनिवर्सिटी रैंकिंग(Education World Government University Ranking) 2020-21 की ओर से जारी रैंकिंग में कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय (Kurukshetra University) को हरियाणा के विश्वविद्यालयों में पहला एवं संस्थानों में चौथा व देशभर के विश्वविद्यालयों में 68वां स्थान मिला है। रैंकिंग(Ranking) में कुवि को पाठ्यक्त्रम गुणवत्ता, शिक्षण, प्रशिक्षण एवं मूल्यांकन, शोध, कंसलटेंसी, आधारभूत ढांचा, विद्यार्थी सहयोग, गवर्ननेंस, लीडरशिप मैनेजमेंट, इनोवेशन आदि मानकों के आधार पर परखा गया। इस मूल्यांकन के बाद कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय को यह रैंक प्राप्त हुआ है।

ए-प्लस स्वायत्त विश्वविद्यालय बनने के बाद एक बार फिर देश के श्रेष्ठ शिक्षण संस्थानों की सूची में शामिल होने के लिए विश्वविद्यालय की कुलपति डॉ. नीता खन्ना (Vice Chancellor Dr. Neeta Khanna) ने सभी अधिकारियों, शिक्षकों एवं कर्मचारियों को बधाई दी है। उन्होंने कुलाधिपति सत्यदेव नारायण आर्य का उनके मार्गदर्शन के लिए एवं हरियाणा सरकार का सहयोग के लिए भी धन्यवाद किया। एजुकेशन वर्ल्ड गवर्नमेंट यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2020-21 कि इस रैंकिंग में कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय को संकाय क्षमता के लिए 150 में से 114 अंक, फैैकल्टी वेलफेयर एवं डेवलेपमेंट के लिए 100 में से 67 अंक, रिसर्च एवं इनोवेशन के लिए 300 में से 134 अंक, पाठ्यक्रम और शिक्षाशास्त्र के लिए 100 में से 54 अंक, इंडस्ट्री इंटरफेस के लिए 100 में से 66 अंक, प्लेसमेंट के लिए 100 में से 65 अंक, इंफ्रास्ट्रक्चर एवं सुविधाओं के लिए 150 में से 115, अंतर्राष्ट्रीयवाद के लिए 100 में से 61 अंक, नेतृत्व एवं शासन गुणवत्ता के लिए 100 में 61 अंक व  कार्यक्रमों की विविधता की पेशकश के लिए 100 में से 73 अंक प्राप्त हुए हैं। इस तरह कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय को रैंकिंग में 1300 में से कुल 810 अंक प्राप्त हुए हैं।

इस मौके पर कुलपति डॉ. नीता खन्ना ने कहा कि कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय उच्च शिक्षा के साथ-साथ समाजसेवा, कला, संस्कृति, शोध व खेल के क्षेत्र में सुधार के लिए अपने प्रयास जारी रखेगा। उन्होंने कहा कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय उच्च शिक्षा के क्षेत्र में नए कीर्तिमान स्थापित करे इसके लिए कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के सभी अधिकारी, कर्मचारी, शिक्षक एवं विद्यार्थी एक टीम के रूप में काम कर रहे हैं। कुलपति ने कहा है कि कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय हरियाणा का ही नहीं देश का सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालय है। पहली बार हरियाणा में किसी विश्वविद्यालय को ए-प्लस ग्रेड का गौरव प्राप्त हुआ था। उन्होंने कहा कि यह कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के शिक्षकों एवं कर्मचारियों की कड़ी मेहनत का परिणाम है। उन्होंने कहा कि कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय देश का एकमात्र ऐसा विश्वविद्यालय है जो अपने विद्यार्थियों को राष्ट्रीय स्तर की शोध सुविधाएं उपलब्ध कराता है। विश्वविद्यालय का बेहतरीन आधारभूत ढांचा इसे देश के अग्रणी विश्वविद्यालयों में शामिल करता है। इस मौके पर बड़ी संख्या में शिक्षकों ने विश्वविद्यालय की कुलपति को इस उपलब्धि के लिए बधाई दी।
और नया पुराने