डॉ सीमा महलावत आई.जी.यू . मीरपुर के कॉमर्स विभाग में असिस्टेंट प्रोफेसर है, जिनके पास होस्टल वार्डन की अतिरिक्त जिम्मेवारी है।

डॉ सीमा  कोरोना संकट के प्रारंभ से ही यूनिवर्सिटी की सभी महत्वपूर्ण कार्यो में प्रथम पंक्ति में रह कर काम करने वाली अकेली महिला कोरोना वॉरियर है।

जब यूनिवर्सिटी में 24 अप्रैल को कोटा से रात 3 बजे बच्चे आये जिनका यूनिवर्सिटी में शेल्टर बनाया गया था  तब अकेली डॉ सीमा ही दिन रात 24 घंटे अपनी दी गयी जिम्मेवारी को निभा रही थी। 
3 दिन 24 घंटे लगातार ड्यूटी पर रहने के बाद जब घर पहुँची तो बहुत ही मार्मिक दर्शय था उनका बेटा बिना खाये उनका इंताजार करता रहता था।

विडम्बना ये थी के यूनिवर्सिटी फ्लैट्स में रहते हुए यूनिवर्सिटी में ही ड्यूटी करते हुए वो बेटे से मिला नही पा रही थीं।

अकेले ही हॉस्टल खाली करवाना ,बिल्डिंग खाली करवाना , कोटा से आये बच्चो के रहने ,खाने ,पानी की व्यवस्था अकेले ही निभाई।

ओर अब फिर से जब यूनिवर्सिटी को 1000 बैड का अस्पताल  बनने जा रहा है तो फिर से डॉ सीमा की ड्यूटी पिछले 5 दिनों से शुरू हो गई है।

उनका सेवा भावी होना किसी से नही छुपा है।

स्टेशन मेनटेन करना क्या होता है वो सबके लिए प्रेरणा बनती जा रहीं है।

डॉ सीमा अपने विभाग की बहुत ही काबिल अध्यापिका है ,उनके लिखे गये पेपर अमेरिका की यूनिवर्सिटी तक का सफर बहुत शानदार रहा है   ,पर यहाँ उनके बहुमुखी प्रतिभा , सेवाभावी होना हम सबके लिए प्रेरणा है।

और नया पुराने