राज्य स्तरीय कैंप में पुरस्कार जीत कर लौटे छात्रों को कुलपति ने किया सम्मानित

मोनिका ने रंगोली में गोल्ड तो छात्र योगेश चौधरी व भवानी ने दौड़ प्रतियोगिता में जीता सिल्वर मेडल

रेवाड़ी ब्यूरो।
राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई द्वारा राज्य स्तरीय एनएसएस कैंप का आयोजन 17-23 नवम्बर तक गुरु जम्भेश्वर विश्वविधालय, हिसार में किया गया, जिसमें इंदिरा गाँधी विश्वविद्यालय, मीरपुर के 8 एनएसएस स्वयंसेवकों ने भाग लिया, जिनमें से एम. कॉम ऑनर्स की छात्रा मोनिका ने रंगोली में गोल्ड मेडल पुरस्कार व छात्र योगेश चौधरी व भवानी ने दौड़ प्रतियोगिता में सिल्वर मेडल पुरस्कार जीता।इंदिरा गाँधी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एस के गक्खड ने बधाई देते हुए कहा कि इससे विश्वविद्यालय का गौरव बढ़ा है। राष्ट्रीय सेवा योजना के समन्वयक डॉ. कर्ण सिंह ने बताया कि राज्य स्तरीय कैंप में आईजीयू से विभिन्न स्वयंसेवकों ने भाग लिया और राजकीय महिला महाविद्यालय गुरावडा से कार्यक्रम अधिकारी विनती परमार ने आइजीयू का प्रतिनिधित्व किया व नेतृत्व में इंदिरा गांधी विश्वविद्यालय भी सबसे ज्यादा पुरस्कार प्राप्त करने वाली यूनिवर्सिटी बनी। 400 मिटर दौड़ प्रतियोगिता में छात्र मनमोहन, चेतन ने गोल्ड तो वही छात्र योगेश चौधरी व भवानी ने सिल्वर मेडल जीता। छात्र गोविंद ने लॉन्ग जंप में गोल्ड मेडल प्राप्त किया। दूसरी ओर छात्रा मोनिका ने रंगोली में प्रथम स्थान तो छात्रा ज्योति ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया।
राज्य स्तरीय एनएसएस कैप में स्वयंसेवकों ने बहुत ही अच्छा प्रदर्शन किया और कहा कि यह विश्वविद्यालय के लिए बड़े ही गर्व की बात है कि जिस कैंप में पूरे हरियाणा से लगभग सभी विश्वविद्यालयों के स्वयंसेवक भाग लेते है वहां आईजीयू के योगेश चौधरी ने कैंप में आए 200 वॉलिंटियर्स को अनुशासन सिखाया व पूरे कैंप का कमांडर के रूप में प्रतिनिधित्व किया और आईजीयू के छात्रो ने सबसे ज्यादा पुरस्कार जीते है।
विश्वविद्यालय के शैक्षणिक मामलों के अधिष्ठाता प्रो. ममता कामरा और छात्र कल्याण अधिष्ठाता प्रो. विजय कुमार ने भी सभी छात्रों को बधाई दी और कहा कि इन सब कार्यक्रमों में भाग लेने से हमारे व्यक्तित्व का विकास होता है। इस कैंप में योगेश,विकाश,रजत,भवानी,अमित,दीपक,मनमोहन,चेतन,रामफल,विकास,गोविन्द,दिनेश,सुनील छात्रा निधि,मोनिका,तनु,योगी,ज्योति,मुस्कान,तनुश्री, चंचल,सपना आदि स्वयंसेवको को भाग लेने पर कुलपति द्वारा सम्मानित किया गया। स्वयंसेवको के लौटने पर कार्यक्रम अधिकारी डॉ. अनिता, डॉ ललित, डॉ. भारती व सुशान्त यादव ने प्रसन्ता व्यक्त की।
और नया पुराने