ज्योति जांगड़ा, हिसार 

 हाल ही में एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार गैंगस्टर विकास दुबे की मौत हो गई है। विकास दुबे को उत्तर प्रदेश एसटीएफ टीम उज्जैन से कानपुर लेकर जा रही थी। कानपुर के रास्ते में ही एसटीएफ की कार पलट गई। घायल पुलिसकर्मियों को देख विकास दुबे ने पिस्तौल छीन ली और भागने की कोशिश की। विकास दुबे पुलिस पर फायरिंग करने लगा और जवाबदेह में पुलिस ने भी फायरिंग की है। इस मुठभेड़ में विकास दुबे को गोलियां लग गई और उसकी मौत हो गई। हालांकि उसी वक्त विकास दुबे को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। परंतु जानकारी के अनुसार विकास दुबे की मौत हो चुकी है। 
न्यूज़ एजेंसी पीटीआई ने कानपुर रेंज के आईजी मोहित अग्रवाल के द्वारा से विकास दुबे के मारे जाने की पुष्टि हुई  है। आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया की मुठभेड़ में विकास दुबे की मौत हो गई। पुलिस ने विकास दुबे को आत्मसम्पूर्ण करने को कहा परंतु वह नहीं माना और मारा गया। 
उत्तरप्रदेश के हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे ने कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या की थी। और फ़रार हो गया था। लेकिन अब उत्तर प्रदेश के सबसे बड़े अपराधी और कानपुर के हिस्ट्रीशीटर की आज आखिरी सांसे बंद हो चुकी है। 
और नया पुराने