नायब तहसीलदार की मार्फत सीएम के नाम सौंपा ज्ञापन

अध्यापकों का आरोप स्कूल संचालक नहीं दे रहे वेतन

स्कूलों के संचालक ऑनलाइन पढ़ाई भी करवा रहे

फतह सिंह उजाला
पटौदी ।
 कोरोना कॉविड 19 महामारी के चलते सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में पढ़ाई को लेकर कोई स्पष्ट नीति नहीं होने के कारण असमंजस की स्थिति बनी हुई है । ऐसे में सरकार की तरफ से कहा गया है कि शिक्षण संस्थान आगामी आदेश तक नहीं खुलेंगे । वही कथित रूप से यह भी कहा जा रहा है कि स्कूलों में ऑनलाइन पढ़ाई की जा सकती है ।

ऐसे हालात में पटौदी इलाके के विभिन्न प्राइवेट स्कूलों में वर्षो से कार्यरत अध्यापकों के सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है । अपनी मांगों के समर्थन में प्राइवेट स्कूलों के अध्यापकों के द्वारा मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के नाम पटौदी के नायब तहसीलदार प्रदीप पाहवा को ज्ञापन सौंपा गया है । ज्ञापन में मांग की गई है कि प्राइवेट स्कूल संचालकों से अवकाश के दौरान और इस दौरान ऑनलाइन पढ़ाई करवाई जाने का वेतनमान दिलवाया जाए । स्कूल संचालकों की कथित मनमानी के कारण सभी अध्यापकों के सामने और आर्थिक संकट पैदा हो गया है । अध्यापकों का यह भी आरोप है कि कुछ स्कूल संचालक और मालिक अध्यापकों को बिना किसी पूर्व नोटिस दिए काम से भी अर्थात नौकरी से भी हटा चुके हैं। जबकि ऐसे अध्यापक जो कि बीते 15-20 सालों से एक ही शिक्षण संस्थान में नियमित रूप से कार्यरत थे, और बच्चों को पढ़ा रहे थे ।

अब अचानक वर्षो से कार्यरत अध्यापकों को बिना कोई नोटिस दिये ही हटा दिया जाने से अध्यापकों सहित उनके परिवार के सामने गंभीर आर्थिक संकट खड़ा हो गया है।  ऐसे हालात में वह किसी अन्य काम को करने में भी सक्षम नहीं है। अध्यापकों के मुताबिक इंडियन सीनियर सेकेंडरी स्कूल तुर्कापुर , लॉर्ड कृष्णा स्कूल जमालपुर , एमएलए स्कूल जाटोली, केशव विद्या विहार सीनियर सेकेंडरी स्कूल खोड , इंडियन सीनियर सेकेंडरी स्कूल, एमडी सीनियर सेकेंडरी स्कूल नया गांव व अन्य स्कूलों के संचालकों के द्वारा लंबे समय तक महामारी के दौरान शोषण किया जा रहा है । ज्ञापन देने वालों में मुख्य रूप से सुरेंद्र सिंह चैहान , योगेश कुमार , प्रवीण शर्मा,  निकाल बिरजू,  मदनलाल , सचिन , महेश,  चंदन कुमार वह अन्य अध्यापक भी शामिल रहे । ज्ञापन की एक-एक प्रति खंड शिक्षा अधिकारी , जिला शिक्षा अधिकारी, पटौदी के विधायक और पटौदी के एसडीएम को भी आवश्यक कार्यवाही के लिए सौंपी गई है ।

और नया पुराने