मनीषबलवान सिंह जांगड़ा, हिसार
हरियाणा उच्चतर शिक्षा विभाग ने फाइनल ईयर की परीक्षा को लेकर प्रदेश के सभी विश्विद्यालयों से फ़ीडबैक मांगा है। गृह मंत्रालय के आदेश पर यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन(यूजीसी) ने फाइनल ईयर की अनिवार्य परीक्षा को लेकर गाइडलाइंस जारी की थी। इसके बाद सभी विश्विद्यालयों व महाविद्यालयों के विद्यार्थी असमंजस की स्थिति में हैं।

विभागों के चैयरमेन व विद्यार्थियों की राय को आगे भेज जाएगा।

उच्चतर शिक्षा विभाग ने विश्विद्यालयों के कुलपतियों को जारी किए गए नोटिस में विभागों के चैयरमेन व विद्यार्थियों से लिए गए फ़ीडबैक को यूजीसी को भेजने को कहा है। ऐसे में हिसार में गुरु जम्भेश्वर विश्विद्यालय प्रशासन ने इस बारे में तुंरत फ़ैसला लेते हुए सभी विभागों व विद्यार्थियों से परीक्षा बाबत फ़ीडबैक लेने का फैसला किया है। सभी विभागों व विद्यार्थियों की राय को उच्चतर शिक्षा विभाग को भेजा जाएगा जिसके बाद उच्चतर शिक्षा विभाग अपनी नीति स्पष्ट करेगा।

सरकार ने फाइनल ईयर के सभी विद्यार्थियों को प्रमोट करने का फ़ैसला किया था।

इससे पहले हरियाणा सरकार ने कोरोना संकट को मद्देनज़र रखते हुए फाइनल ईयर के सभी विद्यार्थियों को भी प्रथम, द्वितीय व तृतीय ईयर के छात्रों की तरह प्रमोट करने का फैसला लिया था। लेकिन यूजीसी ने अनिवार्य रूप से फाइनल ईयर के सभी छात्रों की परीक्षा को लेकर गाइडलाइंस जारी की है जिसमे शिक्षा की गुणवत्ता का कम होने का हवाला दिया है। इसी बीच प्रदेश के 70 हज़ार विद्यार्थी हरियाणा सरकार व यूजीसी की गाइडलाइंस के बीच असमंजस की स्थिति में स्थिति में फंस गए है।
और नया पुराने