कोरोना लोगों की जान ले रहा है तो सरकार लोगों का रोजगार

कोरोना के कारण गुरुग्राम, फरीदाबाद जिले अधिक हैं प्रभावित

दिशाहीन सरकार है इस कारण से देश चैराहे पर खड़ा

फतह सिंह उजाला
गुरुग्राम।
 पूर्व सांसद डा. अशोक तंवर ने कहा कि आज कोरोना महामारी और सरकार की जनविरोधी नीतियों के चलते देश और प्रदेश में जनता परेशान है। कोरोना लोगों की जान ले रहा है तो सरकार लोगों का रोजगार। आज देश में दिशाहीन सरकार है। इस कारण से देश चैराहे पर खड़ा है। आम जनता मर रही है। सरकार को किसी तरह से कोई चिंता नहीं है। यह बात उन्होंने सोमवार को यहां पत्रकार वार्ता में कही।

डा. अशोक तंवर ने कहा कि सरकार बेशक लाख दावे करती हों, लेकिन आम आदमी को किसी भी तरह की राहत नहीं दे पाई है। सरकार नौकरियां देने की बजाय नौकरियां छीन रही हैं। 1983 पीटीआई आज सड़कों पर आ गए हैं। करोड़ों लोगों का देश में रोजगार चला गया है। सरकार इस पर कुछ नहीं सोच रही, कुछ नहीं कर रही। उन्होंने कहा कि सरकार की घोषणाएं सिर्फ दिखावा है। 20 लाख करोड़ की कोरोना काल में राहत जारी करने वाली सरकार बताए कि किसे इसका लाभ मिला है। आम आदमी तो परेशान ही है। ऊपर से महंगाई करके जनता को सरकार दर्द दे रही है। ऐसे लगता है कि देश में दिशाहीन सरकार है। इस वजह से देश चैराहे पर खड़ा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 15 हजार कोरोना के केस हो गए हैं। सरकार पता नहीं कैसे काम कर रही है। गुरुग्राम, फरीदाबाद जिले अधिक प्रभावित है। हालांकि कोरोना सभी जिलों में फैल चुका है।

डा. तंवर ने कहा कि सरकार ना तो प्रदेश, देश में स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करवा पा रही हैं और ना ही जनता को महंगाई से कोई राहत दे पा रही है। देश में इससे बुरा दौर क्या होगा कि आज किसानों के उपयोग का डीजल पेट्रोल से अधिक महंगा हो गया है। सरकार का कोई बयान नहीं आ रहा। सरकार देश के लोगों को मरने के लिए छोड़ रही है। उन्होंने प्रदेश में एससी, बीसी की पदोन्नति को लेकर कहा कि 2018 में सरकार का आदेश आया था कि एससी, बीसी कर्मचारियों को को पदोन्नति में आरक्षण दिया जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं किया गया। सरकार ने उसे वापस ले लिया है। अब कर्मचारियों को बिना पदोन्नत हुए ही रिटायर होना पड़ेगा। डा. अशोक तंवर ने गुरू रविदास मंदिर को लेकर पूर्व में हुए विवाद पर कहा कि कल 10 माह बाद मंदिर में पूजा शुरू हुई है। यह खुशी की बात है।

और नया पुराने