ज्योति जांगड़ा, हिसार 
जहां सभी लोग करोना महामारी की वजह से घरों में बंद है। वहीं सुरजा खेड़ा के रहने वाले व गुरु जंभेश्वर विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले फार्मेसी विद्यार्थी अमित ने गांव के लोगों को नशा मुक्ति अभियान के द्वारा जागरूक किया। 
अभियान का शुभारंभ अमित ने अपने परिवार से किया। उनकी बड़ी बहन व बड़े भाई ने इस अभियान में उनका साथ दिया। अमित ने गांव के सरपंच की मदद से सभी युवाओं को नशा न करने पर छोड़ने के लिए प्रोत्साहित किया। साथ ही सभी युवाओं व आम लोगों को नशामुक्ति की शपथ दिलाई। गांव के लोगों को नशे के दुष्परिणामों से अवगत करवाया। उन्होंने बताया कि नशे की लत में फंसे लोगों का इलाज किया जा सकता है। शहर के कई अस्पतालों में इलाज की सुविधा मौजूद है। नशा लोगों के स्वास्थ्य और अर्थव्यवस्था दोनों को खराब कर देता है। सभी नागरिकों से निवेदन किया कि नशा मुक्ति अभियान में आगे आए और नशे से घर्षित लोगों की मदद करे।अमित ने बताया कि देश में नशा प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। हर साल नशे के कारण एक्सीडेंट, रेप, हैरेसमेंट, चोरी के केस बढ़ते जा रहे हैं। आम जन मानस को आगे आना चाहिए। अमित ने कहा कि मोबाइल एप और टोल फ्री नंबर के माध्यम से भी नशा विरोधी अभियान को प्रभावी बनाया जा सकता है। अगर हम सभी अपने परिवार से ही नशे का विरोध करें तो बहुत जल्द इससे छुटकारा पा सकते हैं।
और नया पुराने