कैंटर में झज्जर से यूपी ले जाई जा रही थी शराब

फरुखनगर पुलिस व अपराध शाखा की संाझा कार्यवाही

फतह सिंह उजाला
पटौदी ।
 क्या हरियाणा से यूपी में अवैध रूप से शराब की सप्लाई की जा रही है या फिर हरियाणा और यूपी के शराब माफिया के बीच कोई मोटी सांठगांठ बनी हुई है । कोरोना काल के दौरान अनलॉक होने के बाद संभवत यह पहला मौका है जब पुलिस के द्वारा एक कैंटर में देसी शराब की 400 पेटी अवैध रूप से ले जाते हुए पकड़ा गया । यह कार्रवाई फरुखनगर थाना पुलिस के द्वारा गश्त के दौरान कैंटर पर शक होने पर जांच के लिए रोका जाने पर हुई ।

कैंटर में 400 पेटी शराब की भरी हुई देखकर एक बार तो पुलिस भी हैरान रह गई । जानकारी के अनुसार यह अवैध शराब गुरुग्राम के साथ लगते झज्जर जिला से फरुखनगर होते हुए यूपी में ले जाई जा रही थी।  अवैध रूप से इतनी भारी मात्रा में शराब ले जाने की जानकारी पुलिस को मुखबिर के द्वारा मिली । इसके बाद फर्रुखनगर थाना पुलिस और अपराध शाखा टीम ने इस कैंटर को किसी ना किसी नाके अथवा टोल पर काबू करने की योजना बनाई । इसके बाद दोनों पुलिस टीमों के द्वारा झज्जर से फरुखनगर के बीच केएमपी पर टोल बैरियर के पास शक होने पर नंबर यूपी 25 बीटी 1203 सफेद और केसरिया रंग वाले कैंटर को जांच के लिए रोका गया ।

पुलिस दल ने चालक से कैंटर की जांच कराने के लिए कहा, जैसे ही कैंटर को खोल कर पुलिस के द्वारा देखा गया तो उसमें अवैध शराब की 400 पेटियां भरी हुई थी । इसी दौरान मौका देख कर कैंटर चालक ने  मौके से फरार होने का प्रयास भी किया । लेकिन चैकस पुलिसकर्मियों ने कैंटर चालक को दबोच लिया।  पुलिस के मुताबिक कैंटर चालक की पहचान दोमनिक मसीह उर्फ सोनू पुत्र डेविड मसीह निवासी जोसेफ नगर थाना बिलासपुर जिला रामपुर यूपी के रूप में की गई । पुलिस के द्वारा जब चालक से कैंटर में भरी शराब के बारे में परमिट सहित अन्य दस्तावेज मांगे गए तो वह किसी भी प्रकार का दस्तावेज देने में नाकाम रहा । यह देसी शराब की पेटी 50-50 पव्वे प्रति पेटी में भरे हुए थे । पुलिस ने कैंटर चालक को हिरासत में लेकर मामला दर्ज कर चालक को कोर्ट में पेश किया । जहां से चालक को जेल भेजने के आदेश दिए गए।
और नया पुराने