ऐसे व्यक्तियों के लिए  जिन के घरों में  पर्याप्त जगह नही 

प्रशासन द्वारा सरकारी तथा पेड आइसोलेशन सुविधा का प्रबंध   

गुरूग्राम । जिन व्यक्तियों को कोरोना संक्रमण हो जाता है और उनके घरों में सैल्फ आइसोलेशन के लिए पर्याप्त जगह नही है, ऐसे व्यक्तियों के लिए गुरूग्राम जिला प्रशासन द्वारा आइसोलेशन सुविधाओं का प्रबंध किया गया है। गुरूग्राम के मंडलायुक्त अशोक सांगवान के मार्गदर्शन में जिला प्रशासन ने कोविड-19 के एसिंप्टोमेटिक मरीजों के लिए 31 सरकारी व 62 पेड आइसोलेशन सुविधाओं का प्रबंध किया है। आमजन इन आइसोलेशन सुविधाओं के बारे में अधिक जानकारी के लिए जिला प्रशासन के हैल्पलाइन नंबर 1950 पर संपर्क कर सकते हैं। 

आइसोलेशन सुविधाओं के लिए मंडलायुक्त अशोक सांगवान द्वारा नगर निगम के अतिरिक्त निगम आयुक्त सुरेन्द्र सिंह को नोडल अधिकारी नियुक्त किया हुआ है।श्री सिंह के अनुसार कोरोना के ज्यादातर संक्रमित मरीज एंसिंप्टोमैटिक हैं अर्थात् जिनमें बिमारी के लक्षण कम दिखाई दे रहे हैं। ऐसे मरीजों को चिकित्सकों द्वारा होम आइसोलेशन में रहने की सलाह दी जाती है परंतु कई बार मरीज का घर अथवा फलैट दो कमरों का ही होता है जिसमें आइसोलेशन में अलग से रहना संभव नही होता। आइसोलेशन में रहने वाले मरीज को एक अलग कमरा ही नही बल्कि उसका शौचालय भी अलग होना चाहिए। इसके अलावा, कुछ संभ्रात परिवारों के लोग घर से अलग आइसोलेशन में रहना पसंद करते हैं।ऐसे सभी लोगों के लिए जिला प्रशासन द्वारा सरकारी तथा पेड आइसोलेशन सुविधा का प्रबंध किया गया है।

सरकारी आइसोलेशन केन्द्रों के बारे मंे श्री सिंह का कहना है कि गुरूग्राम शहर में विभिन्न स्थानों पर 31 सरकारी आइसोलेशन सैंटर चलाए जा रहे हैं जहां लोग स्वयं को आइसोलेट कर सकते हैं और इसका खर्च सरकार वहन करेगी। इस पर प्रति व्यक्ति लगभग 600 रूप्ये से लेकर 1000 रूप्ये तक प्रतिदिन का खर्च आएगा, जिसमें तीन समय का भोजन तथा रूम चार्जिज सम्मिलित हैं। ये सरकारी आइसोलेशन सैंटर पुराने गुरूग्राम शहर में होटल द ग्रेस इन, फ्रेंडस हर्ष विला सेक्टर-14, होटल डेल्टा स्क्वेयर, होटल विवा डेस्टिनेशन राजीव चैक, सेक्टर-69 ओयो सफायर व कांसा बेला, होटल लेवांते ,सेक्टर-5 स्थित होटल फ्रेंड्स रेजीडेंसी व होटल फोर सीजन , सेक्टर- 22 स्थित होटल अमारा, राणा रेजीडेंसी, डीएलएफ साइबर सिटी स्थित बर्ड हाउस रेजीडेंसी, बीएसएफ कैंप भोंडसी निकट कांसा बेला, सेक्टर -31 होटल एमएस, सेक्टर-21 होटल अमृत रेजीडेंसी, गांव खांडसा स्थित  फ्रेंड्स रेजीडेंसी , सेक्टर- 49 स्थित पालम रेजीडेंसी ,सेक्टर- 39 स्थित रॉयल रेजीडेंसी, सेक्टर-38 स्थित रॉयल रेजिडेंसी 2 और 3, सेक्टर-46 रॉयल रेजिडेंसी-4 तथा सेक्टर-39 रॉयल रेजीडेंसी-5 शामिल है। इसी प्रकार, नाथूपुर डीएलएफ फेज- 3 में गुरुजी  रेस्ट हाउस , राजीव चैक के निकट स्थित होटल जोलो, सेक्टर-22 में मॉम्स पीजी , सेक्टर-51 में रॉयल रेजीडेंसी, सेक्टर-57 स्थित ओयो टाउनहाउस, कल्याणी अस्पताल के  सामने अवनी रेजीडेंसी, अपना एंक्लेव के सामने होटल  स्काईलाॅर्क  , सेक्टर-14 स्थित होटल सनशाइन  तथा क्लासिक होटल को शामिल किया गया है। 

इन सरकारी आइसोलेशन सैंटरों के अलावा जिला प्रशासन द्वारा सैल्फ पेड आइसोलेशन सैंटरों की भी व्यवस्था की गई है। जो लोग सरकारी आइसोलेशन सैंटर में नही रहना चाहते , वे सैल्फ पेड आइसोलेशन सुविधा का लाभ ले सकते हैं जोकि 62 स्थानों पर चिन्हित किए गए हैं। इनमें ज्यादातर शहर के बड़े होटल शामिल हैं। उदाहरण के तौर पर होटल लीला, ली मैरिडियन , हयात रीजेंसी , बैस्ट वैस्टर्न स्काईसिटी, रैड फाॅक्स, डबल ट्री बाय हिलटन, ईडन रीजेंसी , द ग्रैंड होटल बिजोटल आदि जैसे बड़े होटल के कमरों को आइसोलेशन सैंटर में तबदील किया गया है। इनके रेट टैक्स के अलावा 1100 रूप्ये से लेकर 4000 रूप्ये प्रतिदिन प्रति व्यक्ति निर्धारित किए गए हैं। इन जगहों पर रहने के लिए व्यक्ति को अदायगी खुद करनी होगी।  
और नया पुराने