सुनीता यादव ने 12 वीं में प्राप्त किए 90 प्रतिशत अंक

लोगों ने फूलमालाओं , नकद उपहार देकर सम्मान किया

फतह सिंह उजाला
पटौदी।
 बोर्ड की परिक्षा में बेहतरीन अंक लेकर जिला व क्षेत्र का नाम रोशन करने वाली बेटियों का जिला परिषद गुरुग्राम की ओर से सम्मान की मुहिम के तहत जिला उप प्रमुख संजीव राव उर्फ पप्पू यादव ने शुक्रवार को गांव डाबोदा की बेटी सुनीता यादव पुत्री राव अभय सिंह का सम्मान समारोह का आयोजन किया। सीबीएससी की 12वीं कक्षा में 90 प्रतिशत अंक प्राप्त करने वाली बेटी सुनीता यादव, उनके गुरु चैधरी धर्मबीर सिंह धनखड़, पिता राव अभय सिंह, माता राजमणी यादव का क्षेत्र के लोगों ने फूलमालाओं , धन राशि आदि उपहार देकर सम्मान किया।


युवा पीढ़ी देश का भविष्य
इस मौके पर किसान कलब के चेयरमैन राव मानसिंह, संजीव राव, सरपंच नीता यादव, नगर पार्षद नरेश राव, दयाराम यादव आदि वक्ताओं ने  अधिकाधिक नंबरों से 12वीं की वार्षिक् परीक्षा उत्र्तीण करने पर सुनिता यादव के अभिभावकों को भी शुभकामनाएं प्रेषित की उन्होंने बताया कि युवा पीढ़ी देश का भविष्य है और हाल ही में आए परीक्षा परिणामों से यह साफ नजर आ रहा है कि ग्रामीण क्षेत्र में शिक्षा के स्तर में सुधार हो रहा है और हमारे बेटे व बेटियां दोनों ही अपने परिश्रम और मेहनत से कामयाबी की ओर बढ़ रहे हैं जो अपने आप में बड़ी उपलब्धी है।  गांव डाबोदा में दूध बेच कर अपने परिवार का गुजारा करने वाले राव अभय सिंह की सुपुत्री सुनीता यादव ने फर्रुखनगर के धनखड सी. सै. स्कूल  से बारहवीं कक्षा में 90 प्रतिशत नंबर प्राप्त करके इलाके का गौरव बढाया है।


 बच्चों को प्रेरित करना चाहिए   
वह सभी सुनीता यादव को साधूवाद देते और भगवान से प्रार्थना करते है कि आईपीएस के सपने को साकार करे। अन्होंने कहा कि  बच्चों की सफलता में माता-पिता का अहम योगदान होता है बच्चों को पढ़ाई के लिए एक अच्छा माहौल तैयार करके देना व उनकी छोटी, बड़ी जरूरतों को पूरा करना प्रत्येक माता-पिता का अहम कर्तव्य बन जाता है व जीवन में शिक्षा ही एक ऐसी विषय वस्तु है जिसे जीवन में आप से कोई नहीं छीन सकता है प्रत्येक माता-पिता व सामाजिक व राजनीतिक क्षेत्र से जुड़े प्रत्येक व्यक्ति को शिक्षा के लिए बच्चों को प्रेरित करना चाहिए और जितना हो सके संभावना उनकी मदद करनी चाहिए।


आईपीएस बनने का सपना
सुनीता यादव ने बताया कि वह आईपीएस बनने का सपना संजोए हुए है। अपने मुकाम को छूने के लिए वह शिक्षा के साथ साथ दौड़ पर विशेष ध्यान दे रही है। ताकि अपने मां के देखे गए सपने को साकार करके यह साबित कर सके की एक दूध बेचने वाली की बेटी भी किसी  से कम नहीं है।  इस मौके पर पूर्व सरपंच राव महेंद्र सिंह, सुरेंद्र यादव, ईश्वर सिंह, महेंद्र सिंड ढाढी, प्रधानाचार्य छोटे लाल सैनी, सुनील शर्मा आदि मौजूद थे। 

और नया पुराने